Sunday, September 25, 2016

Yash- Jat

yuva kisan mukesh dhakad bane any kisano ke ideal interview with mukesh dhakad

नमस्कार दोस्तों my kisan dost में आपका स्वागत है।
आज हम इस post में युवा किसान mukesh dhakad के बारे में जाने गे जिन्होंने खेती को लाभ का धंधा बनाया और अन्य किसानों के लिए प्रेरणा के स्रोत बने जिन्होंने अपनी मेहनत और लगन से ड्रैगन ग्रोवा अंगूर अमरुद पपीता संतरा नीबू आदि सैंकड़ो  बाग़वानी वाली फसलो में उम्मीद से अधिक पैदावार ले कर एक मिसाल कायम की है। मुकेश जी के बारे में कई बार पत्र पत्रिका में लेख प्रकाशित होता रहता है।

interview with mukesh dhakad (एक युवा प्रगतिशील किसान)

Mukesh dhakad intro

मुकेश जी मेंने आपके बारे में कई बार न्यूज पेपर में पढ़ा आप बहुत अच्छी तरह से खेती करते है। आप अपने बारे में my kisan dost के पाठको को भी बताये
mukesh- धन्यवाद यश जी my kisan dost के सभी पाठको को मेरा नमस्कार मित्रों मेरा नाम मुकेश धाकड है। में मध्यप्रदेश के धार जिले में सरदारपुर तहसील के राजोद गाव से हु मेंने बी.एस.सी. की पढ़ाई की है। और में वर्तमान में full time खेती करता हु।मेरी विशेष रूचि बागवानी में है।
आपने पढाई के बाद खेती को ही क्यों चुना आप नौकरी भी कर सकते थे।
mukesh- सर में एक किसान का बेटा हु ।तो बचपन से ही मेरी खेती में लगाव रहा में पढाई के साथ साथ खेती के कार्य में भी  करता रहा। मेरी हमेशा से ही सोच रही की में खुद का कोई व्यवसाय करू जो खेती और किसानों से जुड़ा हो जिसमें हमेशा कुछ न कुछ नया करने को मिले क्यों की रबी खरीफ की फसल से मुझे ज्यादा मुनाफा नही मिल पा रहा था और मुझे खेती को लाभ का धंधा बनाना था इसी उद्देश्य को ले कर मेंने बागवानी में शुरुवात करी सबसे पहले मेंने पपीता फिर संतरा और अब अमरूद की फसल लगा राखी है। वर्तमान में मेरी खुद की नर्सरी (श्री मारुति नर्सरी) के नाम से है।
मुकेश जी आपको नर्सरी बनाने का ख्याल कैसे आया
mukesh- यश भाई जब मेंने बागवानी में शुरवात करी तब मेरे सामने सबसे बड़ी मुश्किल अच्छी किस्म के पौधों की थी उसके लिए मुझे कई सारे राज्यों में दूर दूर तक जाना पढ़ा मेरी अच्छी फसल को देख कर कई सारे किसान मित्रों ने मुझसे पौधों की बहुत माग करी।तब मेंने सोचा की अन्य राज्यों से पौधों को लाने में ट्रासपोर्ट का खर्चा अधिक आता है। साथ ही समय भी अधिक लग जाता है। और प्रति पौधा कीमत भी बड़ जाती है। इसलिए मेंने खुद की नर्सरी तैयार करी ताकि किसान भाइयो को उचित कीमत पर अच्छी किस्म के पौधे उपलब्ध हो सके
मुकेश जी अभी आपके पास नर्सरी में कोन कोन से पौधे तैयार है।
mukesh- वर्तमान में मेरे पास एप्पल बैर,सीडलेस नींबू,थाईलेंड अमरुद,ड्रेगन फ्रुट,guava प्लांट वी.एन.आर. प्रजाति के अमरुद आदि सभी तरह के फलों के पौधे उपलब्ध है।
मुकेश जी वर्तमान में आप विशेष किस प्रोजेक्ट पर काम करे रहे हो?
mukesh- वैसे तो में कई सारे प्रोजेक्ट पर एक साथ काम कर रहा हु। लेकिन मेरा विशेषः ध्यान थाईलेंड अमरुद,guava plant, और ड्रेगन फ्रूट पर है।
Dragon fruits के बारे में जानकारी बतायें
Dregan fruits
ड्रेगन फ्रूट के साथ मुकेश जी धाकड़ 

mukesh- सर मेरे पास रेड एंड रेड प्रजाति के ड्रेगन प्लांट है। जिसको कम सिंचाई और 40 डिग्री तापमान पर भी आसानी से उत्पादन लिया जा सकता है।ड्रेगन फ्रूट का स्वाद केवी फल की तरह होता है। और ये दिखने में बड़े बैगन की तरह होता है।इसका रंग गुलाबी होता है।इसकी बाहरी परत पर हरी काँटेदार पत्तियां होती है।जो चाइना के ड्रेगन जैसी दिखती है।उपरी पत्तियों को हटाकर अन्दर लाल रंग का गूदा निकलता है। उसमे काले रंग के बिजो को हटाकर खाया जा सकता है।इस फल में न्यूट्रीशियन काफी अधिक मात्रा में रहता है। जिससे शुगर और कैंसर रोगी को काफी फ़ायदा होता है।इसका बाज़ार में भाव 300 रूपये प्रति किलो है। इसकी मुंबई,पुणे,देहली में अधिक माग है।
मुकेश जी क्या ये सच है की आपने डेढ़ किलो वजन तक के अमरुद की पैदावार ली । अमरुद की खेती में भी कमाल किया है। उसके बारे में कुछ बताइए।
mukesh- जी सर ये सच है मेंने थाईलेंड और वी.एन.आर. के अमरुद की खेती की उसमे एक फल का वजन 500 ग्राम से लगाकर डेढ़ किलो तक के हुए जिसकी सप्लाई देहली पुणे मुंबई में जेसे बड़े शहरों में की है।जिसको कई सारे कृषि अधिकारियों ने और किसानों ने देख कर मेरे काम की सहराना की और पेपर में भी कई बार खबर प्रकाशित हुई।
क्या आप इस काम में सरकारी योजनाओं का लाभ और मार्गदर्शन लेते है?
mukesh- जी में सभी शासकीय योजना का लाभ लेता हु। जेसे सिंचाई खाद बीज आदि और समय समय पर कृषि अधिकारियों का भी मुझे मार्गदर्शन मिलता रहता है।
मुकेश जी यदि कोई किसान भाई आपसे पौधे खरीदना और आपसे सम्पर्क करना चाहे तो केस कर सकता है।
mukesh- यश जी में श्री मारुति नर्सरी में जिसका पता- S.B.Road RAJOD,the-SARDARPUR DIST- DHAR (M.P.)PIN 454660 पर मिल जाता हु। और मेरा मैल id [email protected] है।
अगर कोई फोन पर सम्पर्क करना चाहे तो मेरे no. 09981961396 है।
मुकेश जी आप mykisandost से जुड़े किसान दोस्तों को कुछ सन्देश देना चाहेंगे? 
Mukesh- जी सर में my kisan dost side के माध्यम से सभी किसान दोस्तों को सन्देश देना चाहूंगा की खेती को यदि आप एक बिजनेस मान कर सही तरीके और पक्के इरादों और पूरी प्लानिंग के साथ करेंगे तो कभी भी आपको नुकसान नही होगा आप हमेशा खेती में कुछ नया और बेहतर करने की कोशिश करते रहे जितना ज्यादा हो सके एक दूसरे से सीखें और सिखाते रहे।तभी आप आगे बड़ पाए गे । और सफल हो पायेगे।
yash- धन्यवाद मुकेश जी आपसे बातचीत कर के मुझे बहुत ही अच्छा लगा आपके कार्य करने के तरीके और आपकी सोच सभी किसान दोस्तों बहुत काम आयेगी।हमारी शुभकामनाएं आपके साथ है। आप जीवन में और अधिक उन्नति करे ताकि आपको देख कर बाकी किसान भी आप से प्रेरणा ले कर खेती में अधिक लाभ कमा सके
mukesh- धन्यवाद यश जी आप भी mykisandost के जरिये बहुत ही अच्छा कार्य कर रहे है। आपके इस काम से किसानों को बहुत help मिल रही है।

दोस्तों मुकेश जी धाकड का interview आपको कैसा लगा हमें comments के जरिये जरूर बताये दोस्तों यदि आपके पास भी इसी कोई जानकरी हो जिससे किसानों को फ़ायदा हो सके तो आप मुझे जरूर लिखे
साथ ही हमारा फेसबुक pege like करना ना भूले
इस पोस्ट को शेयर करने के लिए आप नीचे दिए गये बटन का उपयोग करे।




Yash- Jat

About Yash- Jat -

हेल्लो दोस्तों मेरा नाम yash jat है mykisandost.com मैने बनाई है 5 साल तक job करने के बाद अब में खेती करता हु में एक किसान का बेटा हु और हमेशा से ही खेती में मेरा लगाव रहा है मुझे खेती करना और अपने किसान दोस्तों की मदद करना अच्छा लगता है! जितना हो सके में उनसे सीखता हु और मेरे पास जो भी खेती किसानों से जुड़ी जानकारी होती है वो में इस webside के जरिये उनके साथ शेयर करता हु ताकि हम सब खेती से अधिक लाभ ले कर उन्नति कर सके...red more...

Hamari post Email par pane ke liye email id dale :

7 comments

Write comments
mukesh Dhakad
AUTHOR
September 25, 2016 at 6:54 PM delete

Bahut badiyaaa bhai sahab....🙏

Reply
avatar
March 13, 2017 at 1:05 PM delete

Mukesh ji apne as pas ki mandi ke bare m kaise pta kren

Reply
avatar
my kisan dost
AUTHOR
March 13, 2017 at 5:22 PM delete

Devendra ji kis tyap ki mandi ke bare me vegetables ya crops mandi

Reply
avatar
September 8, 2017 at 9:18 PM delete

मुकेश जी, मेँ जिला झुंझुनू, राजस्थान में ड्रैगन फ्रूट की खेती करना चाहता हूँ। टेम्प्रेचर 45 तक, जून जुलाई में आँधियाँ आती है। पानी काम है, 9 बीघा ज़मीन है। कृपया गाइड करें।

Reply
avatar

पोस्ट के बारे में अपनी राय और comment यहाँ करे।