Friday, May 6, 2016

Yash- Jat

केसे करे खेती में नई तकनिक प्लास्टिक मल्चिंग का उपयोग पूरी जानकारी पढ़े।

किसान दोस्त में आज हम प्लास्टिक मल्चिंग के बारे में जानेंगे इसे क्यों लगाए  और क्या फ़ायदा मिलेगा विस्तार से जानते है।
plastik film malch ka upyog
प्लास्टिक मल्च लगा हुआ खेत 

प्लास्टिक मल्चिंग क्या है।

खेत में लगे पोधों की जमीन को चारों तरफ से प्लास्टिक फिल्म के द्वारा सही तरीके से ढकने की प्रणाली को प्लास्टिक मल्चिंग कहते है। यह फिल्म कई प्रकार और कई रंग में आती है।

इस तकनीक का क्या फ़ायदा होता है।

इस तकनीक से खेत में पानी की नमी को बनाए  रखने और वाष्पीकरण रोका जाता है। ये तकनीक खेत में मिटटी के कटाव को भी रोकती है। और खेत में खरपतवार को होने से बचाया जाता है। बाग़वानी में होने वाले खरपतवार नियंत्रण एवं पोधों को लम्बे समय तक सुरक्षित रखने में बहुत सहायक होती है।क्यों की इसमे भूमि के कठोर होने से बचाया जा सकता है और पोधों की जड़ों का विकास अच्छा होता है।

सब्जियों की फसल में इसका प्रयोग कैसे करे।

जिस खेत में सब्जी वाली फसल लगानी है उसे पहले अच्छे से जुताई कर ले फिर उसमे गोबर की खाद् और मिटटी परीक्षण करवा के उचित मात्रा में खाद् दे। फिर खेत में उठी हुई क्यारी बना ले। फिर उनके उपर ड्रिप सिंचाई की पाइप लाइन को बिछा ले।फिर 25 से 30 माइक्रोन प्लास्टिक मल्च फिल्म जो की सब्जियों के लिए बेहतर रहती है उसे उचित तरीके से बिछा दे फिर फिल्म के दोनों किनारों को मिटटी की परत से दबा दिया जाता हे। इसे आप ट्रैक्टर चालित यंत्र से भी दबा सकते है। फिर उस फिल्म पर गोलाई में पाइप से पोधों से पोधों की दूरी तय कर के छिद्र कर ले। किये हुए छेदों में बीज या नर्सरी में तैयार पोधों का रोपण कर ले।

फल वाली फसल में इसका प्रयोग।

फलदार पोधों के लिए इसका उपयोग जहाँ तक उस पौधे की छाँव रहती है। वाह तक करना उचित रहता है।इसके लिये फिल्म मल्च की लम्बाई और चौड़ाई को बराबर कर के कटिंग करे।उसके बाद पोधों के नीचे उग रही घास और खरपतवार को अच्छी तरह से उखाड़ के सफाई कर ले उसके बाद सिंचाई की नली को सही से सेट करने के बाद 100 माइक्रोन की प्लास्टिक की फिल्म मल्च जो की फल वाले पोधों के लिए उपयुक्त रहती है। उसे हाथों से पौधे के तने के आसपास अच्छे से लगनी है। फिर उसके चारों कोनों को 6 से 8 इंच तक मिटटी की परत से ढँकना है।
 मित्रो यह पोस्ट भी जरूर पढ़े।
बिना खेत और मिटटी की आधुनिक खेती।
* किसानों के लिए सरकार की योजनाएँ।
बोरवेल को recharg करने का तरीका

खेत में प्लास्टिक मल्चिंग करते समय सावधानियां।

मल्चिंग करते समय निम्न सावधानियां आवश्यक रूप से रखनी चाहिए।
● प्लास्टिक फिल्म हमेशा सुबह या शाम के समय लगानी चाहिए।
● फिल्म में ज्याद तनाव नही रखना  चाहिए।
● फिल्म में जो भी सल हो उसे निकलने के बाद ही मिटटी चढ़ा वे।
● फिल्म में छेद करते वक्त सावधानी से करे सिंचाई नली का ध्यान रख के।
● छेद एक जैसे करे और फिल्म न फटे एस बात का ध्यान रखे।
●मिटटी चढाने में दोनों साइड एक जेसी रखे
●फिल्म की घड़ी हमेशा गोलाई में करे
●फिल्म को फटने से बचाए ताकि उसका उपयोग दूसरी बार भी कर पाए और उपयोग होने के बाद उसे चाव में सुरक्षित रखे।

प्लास्टिक मल्चिंग की लागत कितनी आती है।

मल्चिंग की लागत कम ज्यादा हो सकती हे क्यों की इसका कारण खेत में क्यारी के बनाने के ऊपर होता हे क्यों की अलग अलग फसल के हिसाब से क्यारिया सकड़ी और चौड़ी होती हे और प्लास्टिक फिल्म का बाज़ार में मूल्य भी कम ज्यादा होता रहता है।
प्रति बीघा लगभग 8000 रूपये की लागत हो सकती है और मिटटी चढ़ाने में यदि यंत्रो का प्रयोग करे तो वो ख़र्चा भी होता है।

प्लास्टिक मल्चिग में शासन का अनुदान कितना है।

कृषि को उन्नत करने और इसे बढावा देने लिए मध्यप्रदेश सरकार द्वारा उधानिकी विभाग में इसके लिये समस्त किसानो को 50%या अधिकतम 16000 रूपये प्रति हेक्टेयर के हिसाब से अनुदान उपलब्ध कराया जाता है। इस योजना का लाभ पहले आओ पहले पाओ की तर्ज पर दिया जाता है।
इसके अनुदान पाने के लिए आपको अपने जिले के विकास खंड में विरिष्ट  उधान विकास अधिकारी को अपने आवेदन जमा करवा सकते हें। और जानकरी आप अपने ग्राम सेवक से भी ले सकते है।

मित्रों आपको हमारे द्वारा दी गयी जानकरी केसी लगती है। हमें comment कर के ज़रुर बताये और हमारे फेसबुक पेज माय किसान दोस्त को लाइक करे।

और लगातार नई पोस्ट को अपनी email पर पाने के लिए फ्री में subcraibe करे।
धन्यवाद आपका 
MY KISAN DOST

Yash- Jat

About Yash- Jat -

हेल्लो दोस्तों मेरा नाम yash jat है mykisandost.com मैने बनाई है 5 साल तक job करने के बाद अब में खेती करता हु में एक किसान का बेटा हु और हमेशा से ही खेती में मेरा लगाव रहा है मुझे खेती करना और अपने किसान दोस्तों की मदद करना अच्छा लगता है! जितना हो सके में उनसे सीखता हु और मेरे पास जो भी खेती किसानों से जुड़ी जानकारी होती है वो में इस webside के जरिये उनके साथ शेयर करता हु ताकि हम सब खेती से अधिक लाभ ले कर उन्नति कर सके...red more...

Hamari post Email par pane ke liye email id dale :

1 comments:

Write comments
ashok singh
AUTHOR
March 27, 2017 at 3:11 PM delete

उत्कृष्ट

Reply
avatar

पोस्ट के बारे में अपनी राय और comment यहाँ करे।